/ Wrestling Controversy: बृजभूषण सिंह को झटका -

Wrestling Controversy: बृजभूषण सिंह को झटका, Indian Wrestling Federation ने उनके आवास से हटाया अपना ऑफिस नई दिल्ली:

Indian Wrestling Federation

Wrestling Controversy: बृजभूषण सिंह को झटका, Indian Wrestling Federation ने उनके आवास से हटाया अपना ऑफिस नई दिल्ली:

Indian Wrestling Federation

Indian Wrestling Federation (WFI) ने अपना कार्यालय अपने पूर्व अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के आवास से हटा लिया है। इसपर हाल में खेल मंत्रालय ने गंभीर आपत्ति जतायी थी। डब्ल्यूएफआई का नया कार्यालय नयी दिल्ली के हरिनगर में है। एक सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘बृजभूषण के घर को खाली करने के बाद डब्ल्यूएफआई नयी दिल्ली में एक नये पते से काम करेगा।

’ खेल मंत्रालय ने 24 दिसंबर को अध्यक्ष संजय सिंह के नेतृत्व में Indian Wrestling Federation के नवनिर्वाचित पैनल को चुने जाने के तीन दिन बाद ही निलंबित कर दिया था। मंत्रालय ने डब्ल्यूएफआई के बृजभूषण के आवास से चल रहे कार्यालय को भी निलंबन की कार्रवाई का एक कारण बताया था। मंत्रालय ने अपने पत्र में कहा था, ‘महासंघ का कामकाज पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण द्वारा नियंत्रित आवास से हो रहा है और यह कथित परिसर है जिसमें खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया है और वर्तमान में अदालत में यह मामला चल रहा है।’

मंत्रालय ने यह भी कहा था कि नई संस्था भी Indian Wrestling Federation के पूर्व पदाधिकारियों के पूर्ण नियत्रंण में काम कर रही है जो राष्ट्रीय खेल संहिता के अनुरूप नहीं है। ओलिंपिक पदक विजेता बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक तथा विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता विनेश फोगाट सहित कई शीर्ष पहलवानों ने बृजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये हैं और यह मामला दिल्ली उच्च न्यायालय में चल रहा है।

21 दिसंबर को बृजभूषण के करीबी सहयोगी संजय सिंह को Indian Wrestling Federation प्रमुख चुने जाने के विरोध में साक्षी ने कुश्ती से संन्यास लेने का फैसला किया जबकि बजरंग ने अपना पद्मश्री लौटा दिया और विनेश ने खेल रत्न और अर्जुन पुरस्कार वापस देने का फैसला किया। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने एक बार फिर कुश्ती महासंघ का कामकाज देखने के लिए भारतीय वुशु संघ के प्रमुख भूपेंदर सिंह बाजवा की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय तदर्थ समिति का गठन किया है।

नई दिल्ली: खेल मंत्रालय द्वारा रविवार को Indian Wrestling Federation यानी भारतीय कुश्ती महासंघ को सस्पेंड कर दिया गया है। आइये ऐसे में नजर डालते हैं अभी तक इसको लेकर हुई सभी घटनाओं की टाइमलाइम पर। बता दें कि इस टाइमलाइन में पहलवानों के 18 जनवरी से शुरू हुए प्रोटेस्ट से 21 दिसंबर को चुने गए भारतीय कुश्ती महासंघ के सस्पेंड होने तक की घटनाओं के बारे में बताया गया है।

 पहलवानों ने राजधानी दिल्ली के जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन शुरू किया। Indian Wrestling Federation प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह पर यौन शोषण और धमकी का आरोप लगाया और साथ ही उनके इस्तीफे और महासंघ को भंग करने की मांग की।