/ बंगाल: संदेशखाली मामले में बीजेपी नेता की मांग, सीएम ममता को

बंगाल: संदेशखाली मामले में बीजेपी नेता की मांग, सीएम ममता को गिरफ्तार करें, टीएमसी पर बैन लगाएं

बंगाल: संदेशखाली मामले में बीजेपी नेता की मांग, सीएम ममता को गिरफ्तार करें, टीएमसी पर बैन लगाएं

बंगाल: संदेशखाली मामले में बीजेपी नेता की मांग, सीएम ममता को गिरफ्तार करें,

संदेशखाली से सीबीआई द्वारा हथियार और गोला-बारूद बरामद करने के बाद बीजेपी ने टीएमसी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं.

शुक्रवार को राज्य में लोकसभा के दूसरे चरण के मतदान के दौरान, सीबीआई और एनएसजी बम दस्ते ने संदेशखाली और उत्तर 24 परगना जिले में छापेमारी की। छापेमारी में अबू तालेब के घर से कई हथियार और भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद हुआ. स्थानीय टीएमसी नेता हफ़ज़ुल खान के रिश्तेदार, जिन पर अब निष्कासित सत्तारूढ़ पार्टी के मजबूत नेता शेख शाहजहाँ का करीबी सहयोगी होने का आरोप है।

मेदिनीपुर से भाजपा उम्मीदवार अग्निमित्रा पॉल ने संदेशखाली मामले में टीएमसी और ममता बनर्जी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ममता किस तरह की महिला है? किस तरह की सीएम हैं? जो हत्यारों, बलात्कारियों और आतंकवादियों का पक्ष ले रही हैं। रिश्वत लेने वालों को बचाने के लिए कोर्ट जा रही हैं। शेख शाहजहां के गुंडे के पास से बम, आरडीएक्स और पिस्तौल बरामद हुई है। उन्होंने कहा कि क्या संदेशखाली जैसी जगहों पर विस्फोट करने की साजिश रची जा रही है?
अग्निमित्रा ने कहा कि हमारी मांग है कि टीएमसी पर प्रतिबंध लगाया जाए और ममता बनर्जी को गिरफ्तार किया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी भी यही मांग कर रही है कि टीएमसी पर प्रतिबंध लगाकर ममता बनर्जी को गिरफ्तार किया जाए। उन्होंने ममता बनर्जी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बहुत ही चिंताजनक स्थिति है, जहां खुद सीएम ऐसे हत्यारों, बलात्कारियों को बचाती घूम रही हैं। नौकरियों में जो इंसान घूसखोरी कर रहा था, उसको बचाने कोर्ट जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल आतंकवादियों को शरण दे रही है।
चुनाव आयोग के पास शिकायत लेकर पहुंची टीएमसी
शनिवार को सीबीआई और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के बम दस्ते के संदेशखाली में छापेमारी की शिकायत टीएमसी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी के पास दर्ज कराई है। जिसमें टीएमसी का आरोप है कि सीबीआई ने छापेमारी करने से पहले राज्य सरकार, पुलिस प्रशासन को कार्रवाई को नोटिस जारी नहीं किया।

टीएमसी की मांग है कि चुनाव आयोग तत्काल दिशा-निर्देश जारी करें, ताकि चुनाव की अवधि के दौरान राजनीतिक दलों और उनके पदाधिकारियों के खिलाफ सीबीआई या अन्य कोई जांच एजेंसी कार्रवाई न करे।

पश्चिम बंगाल में  42 सीटों पर लोकसभा चुनाव होना है। लोकसभा चुनाव सभी सात चरणों में मतदान होना है। 1 जून को चुनाव समाप्त होगा।

Leave a Comment